गजब लव शायरी 2 Line

तेरे दिल में ठिकाना चाहती हूँ मैं कुछ लम्हे बिताना चाहती हूँ !

दिन भर की थकान दूर हो जाती है, जब तुमसे अच्छे से बात हो जाती है !

जब तक असमान में सितारे रहेंगे, हम सिर्फ और सिर्फ तुम्हारे रहेंगे !

वो दिन कब आएगा जब तुम कहोगे, उठो जी चाय पी लो सुबह हो गई !

हजारों की महफ़िल है लाखो मेले है, जहा तुम नहीं वहा हम अकेले है !

काश तुम कभी जोर से गले लगा कर कहो, डरते क्यों हो पागल तुम्हारी ही तो हूँ !

Read More