हार्ट टचिंग 2 लाइन शायरी

"चाह के भी मजबूर है हम, कैसे बताये उन से दूर है हम।"

"उसके लिए निलाम हो गई, उसकी बोली लगी और मैं बीच बाज़ार उसके नाम हो गई।"

"उसके लिए निलाम हो गई, उसकी बोली लगी और मैं बीच बाज़ार उसके नाम हो गई।"

"कबूल ना हुई पर माँगा हमने, तुम्हें हर दुआ में है तुम्हें।"

"वादे का पता नहीं लेकिन जब तक ज़िंदगी रहेगी तब तक आपके साथ चलेंगे।"

"तुम फिर मिलोगे पता नहीं सच कितना है, ये सोच खूबसूरत कितनी है।"

Read More